आज मैं आपसे ऐसे तथ्यों के बारे में चर्चा करना चाहता हूं जिसकी विश्व को छोड़िए भारत के लोगों को ही जानकारी नहीं है। इन तथ्यों को प्रमाणिक तरीके से इकठ्ठा करने के लिए मैंने 30 वर्षो मे 200 से अधिक पुस्तकों का अध्ययन किया जिनमें 2-3 सौ वर्ष पुरानी कई पुस्तकें है , 60 देशों में भ्रमण कर ऐतिहासिक स्थलों का जमीनी अध्ययन किया और इतिहासकारों और रिसर्चर के साथ मुलाकात की और वार्तालाप किया.

5000 वर्षो के लगातार इतिहास मे 4800 वर्षो तक भारत विश्व का सबसे धनी, संपन्न और उन्नत राष्ट्र था।  हमारे पूर्वजो के पास हर प्रकार का ज्ञान और विज्ञान था। उन्हें पूरे ब्रम्हांड का, आकाश, सौर मंडल, पृथ्वी का, भूगोल का, प्रकृति और वानस्पति का पूरा ज्ञान था। उन्हें आध्यात्मिकता का भी संपूर्ण ज्ञान था जिसमें जीवन का उद्देश्य, जन्म, मृत्य, पुनर्जन्म, आत्मा, परमात्मा, मृत्यु के पश्चात आदि जानकारियां थी।
इतनी संपन्नता थी कि हर काल में विदेशी आक्रांताओ की दृष्टि भारत को लूटने की रहती थी। आज से 2700 वर्ष पूर्व से ही माना जाता है है कि बेबीलोन की महारानी समीरामि ने 3 लाख सैनिकों को लेकर भारत मे आक्रमण किया था, ग्रीस से अलेक्जेंडर 2300 वर्ष पूर्व और फिर उसके सेनापति सेल्युकस ने भी आक्रमण किया। मंगोल सम्राट चंगेज़ खान और फिर पिछले 1200 वर्षो से अफ़ग़ान और मुगल का आक्रमण और शाशन, फिर पिछले 500 वर्षो से यूरोपियन आक्रान्ताओ का दौर शुरू हुआ, जिसमें पुर्तगाली, डच , फ्रेंच , डेनिस और ब्रिटिशर है।

Dinesh Rawat


आप कल्पना कर सकते हैं कि कितना अथाह धन और सम्पदा रही होगी कि हज़ारों मिलों से ये लोग कितना रिसोर्स लगा कर भारत मे आए तो कितना लुटा होगा। इतना सब होने के बाद भी भारत आज से करीब सवा दो सौ वर्ष पहले तक विश्व का सबसे महत्वपूर्ण देश था, 93% जनसंख्या शिक्षित थी।
यही नहीं भारत ही सारे विश्व को शिक्षा देता था, यहा तक्षशिला विश्व विद्यालय 2700 वर्षो पहले 10000 विद्यार्थियों को शिक्षित करता था, उस समय संसार मे किसी भी धर्म का जन्म नहीं हुआ था।
भारत के इस महान अतीत के बारे में विश्व के लोगों को  जानकारी क्यू नहीं है, विश्व को छोड़ भी दे तो यहा भारतवासियों को भी इसकी जानकारी  क्यू नहीं है।
यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण विषय है कि कैसे भारत के इस गौरवशाली इतिहास को छिपाया गया है। आज जरूरत है कि हर भारतीय को अपनी विरासत का पता होना चाहिए। मैं आपसे आने वाले वीडियो मे आपको पूरी जानकारी दूँगा की भारत का सत्य इतिहास क्या है, किस तरह के षडयंत्रों द्वारा इसे धूमिल कर दिया गया, किस तरह भारतवासीओ को ही इसके विरुद्ध खड़ा कर दिया गया है। आज ज्यादातर लोग यही समझते हैं कि भारत एक बहुत ही गरीब देश रहा और अमेरिका, जापान, पश्चिम के, यूरोपियन देश बहुत उन्नत है और वहां से शिक्षा पाने के लिए आज भी हज़ारों विद्यार्थि गौरवांवित महसूस करते हैं। अंग्रेजी ना जानने वालों को हम प्रायः अशिक्षित ही मानते हैं। आज यह अत्यंत आवश्यक है कि भारत का हर नागरिक अपने महान अतीत के बारे में जाने और गर्वित महसूस करे। उसमे विश्वास जागे की हम विश्व गुरु थे और फिर से विश्व हम ही सर्वश्रेष्ठ बनेंगे.